Lung Cancer In Hindi | फेफड़े का कैंसर क्या हैं? लक्षण, उपचार

मानव शरीर मे फेफड़े एक ऐसा है अंग है जो मानव के जीवन की एहम कड़ी मानी जाती है ऐसे में अगर फ़ेफ़डे का कैंसर हो जाता है जो व्यक्ति को इस बीमारी से छुटकारा मिलने में अधिक समय लगता है और ज्यादतर फेफड़े कैंसर वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। इस बीमारी का शुरुआती दिनों में पता नही लगाया जा सकता जब यह बीमारी अपनी चरम सीमा पर होती है तब कैंसर पीड़ित व्यक्ति को स्वास लेने में समस्या होती है।

भारत एक ऐसा देश है जहाँ पुरुषों में अधिकांश फेफड़े कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी देखने को मिली है। अगर आपको भी Lung Cancer के बारे में Information नही है तो परेशान न हो, आज के इस लेख में हम आपको फ़ेफ़डे का कैंसर क्या हैं? तथा Lung Cancer से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी जैसे लक्षण, उपचार आदि के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले है। अगर आपको यह सारी जानकारी प्राप्त करनी है तो इस आर्टिकल को आपको पूरा अंत तक पढ़ना होगा। 

फ़ेफ़डे का कैंसर क्या हैं? | What are Lungs cancers in Hindi

हमारा पूरा शरीर करोड़ो कोशिकाओं से मिलकर बना है और हर कोशिका का एक निश्चित जीवन होता है जब कोशिका जीवन पूरा हो जाता है तो कोशिका स्वतः नष्ट हो जाती है। फेफड़ो में भी ऐसी ही कोशिका होती है जो समय के साथ नष्ट हो जाती है, इन नष्ट हुई कोशिकाओं में कुछ ऐसी कोशिकाएं भी होती है जो नष्ट होने के बाद गलत प्रभाव डालती है। जिसकी बजह से फेफड़ का कैंसर पैदा होता है। यह एक बहुत ही घातक बीमारी है.

जो अगर किसी व्यक्ति को हो जाये तो इसका पता लगाना बेहद मुश्किल है हालांकि फेफड़े को कैंसर पीड़ित व्यक्ति को सांस लेने और छोड़ने में परेशानी होती है लेकिन यह समस्या आम है। अगर इस बीमारी का सही समय पर इलाज न किया जाए तो पीड़ित को अपनी जान भी गवानी पड़ती है। लेकिन अब सवाल यह आता है कि व्यक्ति को कैंसर है यह कैसे पता करें? तो घवराये नही हम आपको फेफड़े के कैंसर से जुड़े लक्षण के बारे में बताने जा रहे है। 

फेफड़े कैंसर के लक्षण क्या है? | What is the symptoms of lung cancer

फेफड़े के कैंसर का पता तब तक नही लगाया जा सकता है जब तक यह भयंकर रूप न ले ले। लेकिन कुछ ऐसे लक्षण है जिनकी मदद से यह पता लगाया जा सकता है कि व्यक्ति को फेफड़े का कैंसर है अथवा नही ये लक्षण इस प्रकार है-

  • व्यक्ति की आवाज में बदलाब
  • बजन कम होना
  • सिर दर्द
  • घरघराहट 
  • सीने की हड्डियों में दर्द
  • श्वास लेने में परेशानी
  • भूक में कमी आदि।

फेफड़े का कैंसर होने के कारण | Causes of having lung cancer

फेफड़े का कैंसर अधिकांश उन लोगो को होता है धुंए  वाले अपशिष्ट पदार्थों जैसे- सिगरेट का सेवन करते है, इन पदार्थों से निकलने वाले धुंए की बजह से फेफड़ो में कैंसर कोशिका सक्रिय हो जाती है क्योंकि सिगरेट का अधिक सेवन करने से धुआं फेफड़ो में जमा हो जाता जो कैंसर जैसे घातक बीमारी को जन्म देता है।

इसलिए अगर आप अधिक सिगरेट का सेवन करते हैं तो आपको अपनी इस आदत पर आ ही नियंत्रण लगाना चाहिए। इसके अलावा फेफड़ो के कैंसर X-ray से निकलने वाली गामा करणो के सम्पर्क में आने से भी होता है। और वायु प्रदूषण भी फेफड़ो में कैंसर की बहुत बड़ी बजह है। 

फेफड़े के कैंसर का इलाज क्या है? | What is the treatment for lung cancer?

वैसे तो lung cancer का एकमात्र सबसे बेतरीन उचार सर्जरी है। सर्जरी करके डॉक्टर रोगी के फेफड़ो की उन कैंसर कोशिकाओं को काटकर निकल सकता है जिन कोशिश में कैंसर फैला हुआ है। अगर फेफड़ो में अधिक कैंसर फैला हुआ है तो डॉक्टर कभी कभी सर्जरी करके एक फेफड़े को निकाल देते है।

क्योंकि एक फेफड़े के साथ भी मानव जीवन रहे सकते हैं। फेफड़ों से सर्जरी के माध्यम से कैंसर वाले भाग को निकलने के लिए लोबेक्टोमी नामक प्रक्रिया का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन सर्जरी के अलावा भी कैंसर का इलाज कई तरीकों से किया जाता है।

जैसे- कीमोथेरेपी इस प्रक्रिया में दवाओं के द्वारा कैंसर कोशिको को बढ़ने और फैलने से रोका जाता है। कीमोथेरेपी में कैंसर के इलाज के लिए जो दवाइयां इस्तेमाल की जाती है वह बहुत ही प्रभावशाली होती है जो सीधे कैंसर कोशिको को अपना निशाना बनाकर खत्म करती है। इसलिए इससे कैंसर सबसे महत्वपूर्ण प्रक्रिया माना जाता है हालांकि इस प्रक्रिया से रोगी का उपचार करने के दौरान बजन का घटना आदि दुष्प्रभाव भी है।

इसके अतिरिक्त कैंसर के इलाज के लिए विकिरण चिकित्सा का भी उपयोग किया है इसमें उच्च ऊर्जा किरणों के माध्यम से कैंसर कोशिका को नष्ट किया जाता है। इस तकनीक के इस्तेमाल तब किया जाता है जब व्यक्ति को एक ही स्थान पर कैंसर है और वह फैल नही रहा हो। 

फेफड़े कैंसर से वचाव | Prevention of lung cancer in Hindi

अगर आप चाहते हैं कि आपको भविष्य में फेफड़े के कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी ना हो तो आप अभी से निम्नलिखित उपाय उपयोग कर सकते हैं जैसे-

  • फेफड़े के कैंसर के बचाव के लिए व्यक्ति को सिगरेट आदि का सेवन कम करना चाहिए और हर बार कम से कम एक बार अपने फेफड़ों का सिटी स्कैन अवश्य कराना चाहिए। 
  • स्वच्छ वातावरण में रहने का प्रयास करें फैक्ट्री और अत्यधिक धुंए वाले इलाकों में जाने से बचें।

निष्कर्ष

यदि किसी व्यक्ति को फेफड़ों में कैंसर हो जाता है तो उस व्यक्ति का जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है जिसके लिए कई इलाज और बचाव हैं जिन्हें करके कैंसर का उपचार किया जा सकता है लेकिन फिर भी आपको कैंसर के बचाव के लिए अभी से प्रयास करते रहना चाहिए।

तो आपको आज का हमारा यह आर्टिकल फ़ेफ़डे का कैंसर क्या हैं? | लक्षण, उपचार | Lung Cancer In Hindi कैसा लगा कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें जरूर बताएं।

नमस्कार दोस्तों, मैं Sandeep Singh, Technical Sandy(टेक्निकल सैंडी) का Technical Author & Founder हूँ। Education की बात करूँ तो मैं एक बी.कॉम Graduate हूँ। मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है। मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे। :) #We Technical Sandy Team Support DIGITAL INDIA

Share on:

Leave a Comment