Blogging Tips in Hindi | Blogging की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में

Blogging Tips in Hindi- Blogging करना आज के समय में बहुत आसान है लेकिन Blogging को करते रहना और इसकी आवृत्ति को बनाए रखना सबके बस की बात नहीं है। यह बात सत्य है कि ब्लॉगिंग से बहुत अच्छा पैसा कमाया जा सकता है लेकिन यह तभी हो सकता है जब एक समेकित और विशिष्ट ढंग से ब्लॉगिंग करी जाए अन्यथा ब्लॉगिंग करना केवल समय का समय को व्यर्थ करना ही है।

Table of Contents hide

इसीलिए आज हम इस लेख के जरिए आपको कुछ ऐसे टिप्स देंगे जिनकी सहायता से आप अपने ब्लॉगिंग के करियर को नई ऊंचाइयों पर ले जा पाएंगे और उन्हें उस ऊंचाइयों पर बरकरार रखने के लिए कोशिश करते रहेंगे।

आज के लेख में हम कुछ ऐसे टिप्स देंगे जिनकी मदद से आपको ब्लॉगिंग करने में बहुत आसानी होगी तो चलिए शुरू करते हैं-

आपको Multiple topic वाले ब्लॉग से बचना है-

दोस्तों हम सबसे पहले आपको यह जानकारी देना चाहेंगे कि जब भी आप एक ब्लॉग लिखें तो जो ब्लॉग का टॉपिक होगा आप उस पर ही बने रहे और उससे भटके नहीं क्योंकि यदि आप अपने ब्लॉग के मुख्य टॉपिक से भटक जाएंगे तो बाद में आपका ब्लॉग पढ़ने के लिए जो लोग आएंगे उन्हें लगेगा कि आपके उनका समय दर्द कर रहे हैं।

इसलिए बहुत सारे टॉपिक अपने ब्लॉग में ऐड ना करें और केवल मुख्य टॉपिक को ही आधार बनाकर अपना पूरा ब्लॉग लिखें इससे आपका लोग बहुत अच्छा व केन्द्रित बनेगा।

एक हम आपसे कहना चाहेंगे कि जब भी आप अपना कंटेंट लिखे तो याद रखें कि आपका कंटेंट पढ़ने के लिए जो लोग आएंगे उन्हें उस कंटेंट मैं वह सामग्री जरूर मिली चाहिए जिसकी वे तलाश कर रहे हैं।

ऐसा बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए कि आप उन्हें भटकाने की कोशिश करें क्योंकि यदि ऐसा होगा तो आपके ब्लॉग पढ़ने वाले केवल एक बार ही आपके वेबसाइट पर आएंगे और फिर कभी नहीं आएंगे।

क्योंकि उनका एक्सपीरियंस आपकी वेबसाइट को लेकर खराब हो जाएगा इसीलिए एकदम क्वालिटी कंटेंट आपको लिखना है।

आकर्षक headingऔर title होना चाहिए

एक बात जो आपको सभी बताते हैं और आपको भी पता होगी कि जब भी आप कंटेंट या अपना ब्लॉग लिखें तो उसके लिए जो हेडिंग या टाइटल है वह इतनी कैचिंग होनी चाहिए कि पढ़ने वाले का ध्यान तुरंत उसकी हो जाना चाहिए। क्योंकि टाइटल जितना आकर्षक होगा उतने ही लोग उतनी ही देर आपका कंटेंट पढ़ेंगे।

टाइटल कैचिंग या आकर्षक ना होने पर लोग आप की वेबसाइट पर आते जरूर है लेकिन रुकते नहीं हैं। हम आपको एक उपाय बता सकते हैं कि जब भी आप अपने ब्लॉग के लिए या आर्टिकल के लिए एक टाइटल चुने तो वह टाइटल एक छोटा टाइटल होना चाहिए ताकि लोगों को इसे पढ़ने में कम समय लगे।

उस टाइटल में वह कीवर्ड जरूर होना चाहिए जिसे लोग बहुत ज्यादा सर्च करते हैं। कोई भी कीवर्ड जिसे लोग सर्च करते हैं इसका पता और गूगल में सर्च करके लगा सकते हैं। यह बहुत ही आसान है इसमें आपको मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ेगा।

अपने ब्लॉग में Images को जरूर काम में ले

मित्रों लोगों की स्मृति में वह यादाश्त बहुत दिनों तक रहती है जिसे वे देखते हैं, इसलिए यह कोशिश करें कि जब आप अपना ब्लॉग लिखे तो इस ब्लॉग से संबंधित फोटो या वीडियो को भी साथ में उस ब्लॉग के साथ लगाएं।

इससे जब आपका ब्लॉग पढ़ने के लिए लोग आएंगे तब वह यह देखेंगे कि उन्हें एक अच्छी सामग्री पढ़ने को मिली है और एक क्वालिटी कंटेंट उन्हें मिला है।

याद रखें कि जब भी आप अपने ब्लॉग में किसी तस्वीर या वीडियो को डालें तो उसके एल्ट टैग में कुछ ऐसे कीवर्ल्ड जरूर डालें जो कि Search engine Optemization में आपकी मदद कर सके क्योंकि गूगल कभी भी तस्वीरों को पढ़ नहीं सकता वह तस्वीरों को केवल स्कैन करता है और उन एल्ट टैग की मदद से आप अपना और अपने ब्लॉग का बहुत ज्यादा फायदा कर सकेंगे।

सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपना ब्लॉग शेयर करें

दोस्तों यदि आप चाहते हैं कि आप के लोग तो बहुत सारे लोग करें पढ़ें तो उसके लिए आपको कुछ समय के लिए अपनी खुद की मेहनत से लोगों को आपके ब्लॉग पर लाना होगा। यह काम बहुत लोग करते हैं और आपको भी करना होगा।

बहुत कम बार ऐसा होता है कि किसी ब्लॉग पर बिना किसी मेहनत के और बिना किसी एडवर्टाइजमेंट के लोग आ जाते हैं लेकिन यह अक्सर सभी के साथ नहीं होता। इसलिए आपको अपने ब्लॉग की लिंक को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जरूर प्रमोट करना चाहिए ताकि लोगों का ध्यान उस पर पड़े और वे उन्हें पढ़ें।

उन्हें अच्छा लगे या ना लगे यह एक बहस को सकती है लेकिन यदि वह आपके कंटेंट को और ब्लॉग को पढ़ेंगे तो उनके स्मृति में आपकी वेबसाइट को लेकर के एक यादाश्त रहेगी कि हां एक ऐसी वेबसाइट है जहां पर हमें अच्छा कंटेंट मिल सकता है।

इसीलिए आपको अपनी वेबसाइट को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, लिंकडइन पर शेयर करना चाहिए क्योंकि वहां पर लोग अत्यधिक संख्या में होते हैं जिस का फायदा आप उठा सकते हैं।

Google Search Console Tool को उपयोग में लें

दोस्तों यदि आपने गूगल सर्च कंसोल टूल का नाम सुना है तो यह टूल आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। जब भी आप अपने ब्लॉग को तैयार करें तब आपको अपने उस आर्टिकल को या ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में जरूर सबमिट करना चाहिए क्योंकि यह एक बहुत अच्छा टूल है जिसकी सहायता से आप यह परीक्षण कर सकते हैं कि आपका आर्टिकल या ब्लॉग गूगल पर किस तरीके से अपना कार्य कर रहा है।

कहीं आपका आर्टिकल एक मृत आर्टिकल की तरह तो नहीं पड़ा।

इसकी सहायता से आप अपने आर्टिकल में चाहे तो बदलाव भी कर सकते हैं गूगल सर्च कंसोल के जरिए आप बहुत ही आकर्षक और प्रमुख जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं, जैसे कि क्रॉल इरर और कीवर्ड की रैंकिंग और आपके आर्टिकल पर आए हुए इंप्रेशन इत्यादि को आप अपने गूगल सर्च कंसोल के जरिए देख सकते हैं यदि आप इसके बारे में अधिक जानना चाहते हैं तो गूगल सर्च कंसोल की वेबसाइट पर आप जाकर इसे देख सकते हैं।

ब्लॉग के लिए वर्डप्रेस को इस्तेमाल करें

दोस्तों आप जब भी लोग लिखना शुरू करें तो सबसे पहले ही है ध्यान में रखें कि इस वेबसाइट पर आप ब्लॉग लिख रहे हैं क्या वह आपके ब्लॉग को या आर्टिकल को रीडर्स के सामने अच्छे से पेश कर पा रही है? यदि नहीं तो आपको वर्डप्रेस जरूर काम में लेना चाहिए क्योंकि इसकी सहायता से आप एक अच्छा ब्लॉग जरूर लिख पाएंगे।

ब्लॉग लिखने के लिए अक्सर लोग वर्डप्रेस को काम में लेते हैं क्योंकि यह self-hosted है और इसी के साथ आपको वर्डप्रेस में हजारों थीम मिलेंगे जिन्हें आप काम में ले सकते हैं।

इसके साथ आपको कई प्लगइन मुफ्त में मिलेंगे जिनकी सहायता से आप एक अच्छा और आकर्षक ब्लॉग लिख सकते हैं जो दिखने में प्रोफेशनल लगेगा।

इसके अलावा यदि आप वर्डप्रेस को पहली बार काम में ले रहे हो तो यह निश्चित है कि आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा और समस्याओं के समाधान के लिए आप यूट्यूब पर फ्री में इसके ट्यूटोरियल देख सकेंगे क्योंकि वर्डप्रेस बहुत पॉपुलर है तो इसकी हर समस्या के लिए आपको हर समस्या के समाधान के लिए आपको वीडियो मिल जाएंगे।

अपना MetaDescription जरूर optimize करें

जब आप गूगल पर कोई चीज सर्च करते हो तो बहुत सारी लिंक आपके सामने आ जाती है और उन लिंक्स के नीचे एक या दो वाक्यों में कुछ सेंटेंस भी आते हैं और अक्सर लोग उन्हीं को पढ़कर उन्हें अपने समस्या के समाधान को खोजते हैं।

इसी से उस वेबसाइट पर क्लिक रेशियों बढ़ते जाता है और जितना ज्यादा एक वेबसाइट पर या एक लिंक के ऊपर क्लिक रेशियों बढ़ता है उतना ही ज्यादा गूगल इस लिंक को लोगों को सजेस्ट करता है कि वे उन्हें देखें।

अगर आप भी उन्हें बढ़ाना चाहते हैं तो आपको उस लिंक के नीचे लिखे एक या दो बाकी के सेंटेंस को ऑप्टिमाइज करना होगा यानी आपको उसे बेहतर बनाना होगा ताकि लोग उसे पढ़ कर उस पर क्लिक करें।

ऐसा करने के लिए आपको अपना मेटा डिस्क्रिप्शन ऑप्टिमाइज करना होगा हर ब्लॉग के लिए मेटा डिस्क्रिप्शन अलग होता है। यदि अगर मेटा डिस्क्रिप्शन को आप नहीं समझ पा रहे हैं तो ऐसा समझ लीजिए कि मेटा डिस्क्रिप्शन एक संक्षिप्त विवरण होता है जो आपके ब्लॉग को स्पष्ट करता है।

Blog की Images को optimize करें

यदि आपको भी अपने ब्लॉग में इमेजेस लगाना पसंद है और आप हर बार अपने ब्लॉग को लिखते समय बहुत सारी तस्वीरों को लगाना पसंद करते हैं तो आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि आपको कभी भी बहुत ज्यादा साइज में बड़ी फोटो को काम में नहीं लेना चाहिए।

जब भी आप अपने फोटो अपने किसी फोटो को अपने ब्लॉग में लगाएं तो उस ब्लॉग में या उस ब्लॉग से संबंधित कोई कीवर्ड आप उस उस तस्वीर के उसी टैग में जरूर डालें।

क्योंकि गूगल तस्वीरों को नहीं पढ़ सकता वह केवल अक्षरों को पड़ सकता है इसलिए जो इसलिए गूगल हर बार आपकी तस्वीरों के उस टैग को पढेगा। ऐसा करके आप अपनी इमेजेस को ऑप्टिमाइज कर पाएंगे।

एक तस्वीर हजार से ज्यादा शब्दों को बयान कर सकती है और यह बात सभी जानते हैं इसीलिए तस्वीरों का जब भी उपयोग अपने ब्लॉग में करें तो समझदारी से करें क्योंकि यह तस्वीरें आप का बहुत फायदा कर सकती है।

अपने ब्लॉग केSEO पर भी फोकस जरूर करें

एक ब्लॉग लिखने के लिए उस ब्लॉग का SEO करना बहुत ही जरूरी कदम होता है यदि आप अपने ब्लॉग का SEO नहीं कर सकते तो आपको ब्लॉग लिखना भी नहीं चाहिए। क्योंकि यदि आपके ब्लॉग में वह कीवर्ड नहीं है जिन्हें लोग खोज रहे हैं तो आपका पूरा का पूरा ब्लॉग अंधकार में पड़ा रहेगा और उसे कोई नहीं देखेगा।

यदि आप यह नहीं चाहते कि आपका ब्लॉग अंधकार में पढ़ा रहे तो अपने ब्लॉग के टॉपिक से संबंधित कुछ जरूरी कीवर्ड आपको सर्च करके अपने ब्लॉग में जरूर डालें चाहिए ताकि लोग उसे पढ़ने और उसे शेयर भी करे।

एक ब्लॉग का SEO करने का मतलब होता है कि संबंधित ब्लॉग में कुछ ऐसे की वर्ड हो जिनको किसी भी सर्च इंजन पर लोग बहुत ज्यादा सर्च करें।

ऐसे कीवर्ड तो हमें  केवल गूगल पर सर्च करने से भी मिल सकते हैं बस उन्हें कीवर्ड्स को उठाकर हमें अपने ब्लॉग में रखने होते हैं ताकि लोग उन्हें पढ़कर जब भी लोग ऐसे केवल को सर्च करें तो आपका ब्लॉग भी उनके समक्ष आए।

छोटे paragraph बनाये

अगर आपको ब्लॉग लिखते हुए थोड़ा समय हो गया है तो आप यह बात जानते होंगे कि जब भी आप ब्लॉग में एक छोटा पैराग्राफ लिखते हैं तो वह काफी आकर्षक होता है।

छोटे पैराग्राफ को लोग ज्यादा पढ़ना पसंद करते हैं क्योंकि एक बड़ा पैराग्राफ दिखने में ही डरावना लगता है लेकिन एक छोटा पैराग्राफ देखने में प्यारा भी लगता है और उसे पढ़ने एक समय भी कम लगता है।

इसीलिए अक्सर लोग छोटा पैराग्राफ देखकर उसे पढ़ने के लिए रुक जाते हैं और आपको यही करना है।

कि लोगों को अपनी वेबसाइट पर जितना हो सके उतनी ज्यादा देर तक रोके रखना है।

छोटा पैराग्राफ ब्लॉग लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है आपको इसे जरूर काम में लेना चाहिए। इसीलिए आपको यह ध्यान में रखना चाहिए कि आप जब भी अपना ब्लॉग लिखे तो बड़े पैराग्राफ को दो या तीन  छोटे पैराग्राफ में बांट दें।

अपने ब्लॉग के अनुसार सही होस्टिंग चुने

एक सही होस्टिंग आपको और आपकी वेबसाइट को काफी फायदा पहुंचा सकती है इसलिए जब भी आप ब्लोगिंग के लिए अपनी वेबसाइट खरीदें तो यह ध्यान में रखें कि वह वेबसाइट के लिए आप एक अच्छा होस्टिंग प्लान जरूर चुनना है क्योंकि एक अच्छा होस्टिंग प्लान आपके कंटेंट को अधिक लोगों तक पहुंचा सकता है।

अपने ब्लॉग का डिजाईन आकर्षक रखें

यदि आप ने कभी किसी यादगार ब्लॉग को देखा होगा तो आपको याद होगा कि उस ब्लॉग का डिजाइन कैसा था उसने आपको कंटेंट किस प्रकार पेश किए गए थे। उसने आपको जानकारी किस प्रकार दी थी और आप उस डिजाइन को पसंद या नापसंद कर सकते हैं।

ठीक उसी प्रकार जब लोग आपका ब्लॉग पढ़ने आएंगे तब वह भी आपके ब्लॉग का डिजाइन जरूर देखेंगे और वह भी यह देखेंगे कि आपने किस प्रकार अपने कंटेंट को पर उनके सामने पेश किया है, आपने किस प्रकार उन्हें जानकारी दी है, क्या वह जानकारी आवश्यक है, यदि नहीं तो लोग वापस आपका ब्लॉग पढ़ने नहीं आएंगे।

इसलिए हम आपको यह सुझाव देंगे कि आप जब भी एक वेबसाइट पर अपना ब्लॉग लिखें तो उस ब्लॉग के लिए आपका आपके वेबसाइट का डिजाइन आकर्षक होना चाहिए।

उसमें बहुत ज्यादा एनिमेशन डालने की जरूरत नहीं है वह दिखने में सादा और आकर्षक हो, यह काफी है।

इसके लिए आप चाहे तो वर्डप्रेस की थीम काम में ले सकते हैं और यदि आप पैसा खर्च नहीं करना चाहते तो वर्डप्रेस आपको काफी सारी थीम मुफ्त में ही उपलब्ध करवा देता है जिन्हें आप काम में ले सकते हैं और आप अपने पाठकों को अपनी वेबसाइट पर रोक कर रख सकते हैं।

पहला इंप्रेशन अंतिम इंप्रेशन भी होता है और इसी की वजह से जब लोग आपके ब्लॉग की डिजाइन देख कर खुश होंगे तब वह लोग आपके वेबसाइट का नाम याद रखेंगे और उन्हें जब भी कहीं कुछ समस्या होगी तो आपकी वेबसाइट को जरूर खोजेंगे।

अपनी वेबसाइट का loading time fast करें

मित्रों यदि आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट पर बाउंस रेट बहुत कम रहे तो इसके लिए आपको आपकी वेबसाइट की स्पीड बढ़ानी पड़ेगी।

इसका मतलब यह हुआ कि जब लोग आपकी वेबसाइट पर यह आपकी वेबसाइट के लिंक पर क्लिक करते हैं तो आपकी वेबसाइट लोड होने में कितना समय लेती है, यदि आपकी वेबसाइट लोड होने में बहुत ज्यादा समय ले रही है तो लोग आपकी वेबसाइट पर आकर भी आपकी वेबसाइट को बिना देखने लौट जाएंगे क्योंकि लोगों को इंतजार करना पसंद नहीं होता है।

इसीलिए यदि आप चाहते हैं कि आपकी वेबसाइट गूगल के टॉप रैंक में आए तो उसके लिए आपको आपकी वेबसाइट और आपके ब्लॉग को फास्ट बनाना पड़ेगा उसी के साथ आपको लोगों को एक अच्छा यूजर एक्सपीरियंस भी देना होगा यदि आप ऐसा कर पाते हैं तो बहुत से लोग आपकी वेबसाइट की और आपके ब्लॉग को पढ़ने के लिए आएंगे।

अपनी ब्लोगिंग वेबसाइट के लिए cache Plugin इस्तेमाल करें

यदि आप वर्डप्रेस इस्तेमाल करते हैं तो आपने कैच प्लगइन के बारे में जरूर सुना होगा और यह कुछ नहीं बल्कि एक ऐसा टूल है जिसके इस्तेमाल से आप अपनी वेबसाइट को फास्ट बना सकते हैं।

इस प्लगइन के जरिए आप अपने ब्लॉग का लोड अपने सर्वर से थोड़ा कम कर सकते हैं मतलब जब भी आपका ब्लॉग ओपन होगा तो वह डायरेक्ट सर्वर से ना होकर एक वर्चुअल सर्वर से होगा जिसकी सहायता से आपका ब्लॉग लोड होने में बहुत कम समय लेगा।

उसकी वजह से आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट बहुत कम हो जाएगा और हो सकता है कि आपकी वेबसाइट गूगल के टॉप रैंक में भी आए वर्डप्रेस में कैच प्लगिन बहुत ज्यादा संख्या में आपको मिल जाएंगे जिनके इस्तेमाल से आप अपनी वेबसाइट को फास्ट बना सकते हैं।

अपनी वेबसाइट के डेटाबेस को optimize करें

यदि आप की वेबसाइट बहुत ज्यादा पुरानी है और आपने अपने वेबसाइट पर डेटाबेस को ऑप्टिमाइज अर्थात समय-समय पर खाली नहीं किया है तो यह बात निश्चित है कि आपके डेटाबेस का साइज बहुत ज्यादा बढ़ चुका होगा।

जिसकी वजह से जब आपकी वेबसाइट को कोई देखना चाहेगा तो आपका ब्लॉग बहुत देर से होगा और लोडिंग का समय बहुत ज्यादा लगेगा।

यदि आप अपने वेबसाइट के डेटाबेस को ऑप्टिमाइज करना चाहते हैं तो उसमें उपस्थित अनावश्यक चीजें जैसे कि स्पैम कमेंट, ट्रेश, कुछ रिवीजन और ऐसे ही बहुत ऑप्शंस जैसे कि मेटा डाटा के कुछ टैग आप अपने डेटाबेस से हटा सकते हैं जिसके परिणाम स्वरूप आपके डेटाबेस की साइज थोड़ी कम हो जाएगी और आपका डाटाबेस अच्छा परफॉर्म कर पाएगा।

Keyword Research करके है ब्लॉग लिखें

यदि आप चाहते हैं कि आपका ब्लॉग बहुत अच्छा परफॉर्म करे तो उसके लिए यह बहुत जरूरी है कि आप अपने ब्लॉग के अंदर कुछ ऐसे शब्दों का चयन करें या शब्दों को डालें जिन्हें बहुत ज्यादा संख्या में लोग सर्च करना पसंद करते हैं।

यदि आप किसी भी संबंधित टॉपिक पर अपना ब्लॉग लिख रहे हैं तो उस टॉपिक के संबंध में आपको थोड़ा समय लगा कर कुछ ऐसे कीवर्ड जरूर सर्च करने चाहिए और उन्हें अपने ब्लॉग में जरुर डालना चाहिए। जिसके सहायता से आपका ब्लॉग लोगों तक पहुंच सके जो आपका कंटेंट ढूंढ रहे हैं।

उसकी सहायता से आपका ब्लॉग बहुत सारे लोगों तक पहुंचेगा और बहुत अच्छा परफॉर्म भी करेगा।

अक्सर बहुत से लोग इसलिए परफॉर्म नहीं कर पाते क्योंकि उन लोगों तक पहुंच ही नहीं पाते जो उन्हें ढूंढ रहे हैं और इसके पीछे का कारण उन शब्दों का अच्छे से ना चयन करना होता है। गूगल शब्दों को  पढ़ लेता है और जब लोग किसी शब्द को ज्यादा सर्च करते हैं उसके संबंध में वही कंटेंट गूगल उनके समक्ष प्रस्तुत करता है।

आपको रोजाना ब्लॉग पोस्ट करना है consistency के साथ

दोस्तों अक्सर लोग ब्लॉगिंग के कैरियर में सफल नहीं हो पाते क्योंकि वह शुरू तो अच्छे से करते हैं लेकिन बाद में लगातार पोस्ट नहीं डाल पाते। वे एक पोस्ट डाल कर दो-तीन महीने बाद दूसरा पोस्ट डालते हैं ऐसा करने से गूगल आपको अपनी वेटिंग लिस्ट में डाल देता है जिसके बाद वहां से निकलने के लिए आपको प्रतिदिन पोस्ट करना पड़ता है।

यदि आप चाहते हैं कि आपका ब्लॉग सफल हो और आप अपना ब्लॉगिंग करियर अच्छे से बना पाए तो उसके लिए आपको हर दिन या हर 2 दिन से आपको पोस्ट डालते रहना होगा।

इस कंटिन्यूटी की वजह से आपका ब्लॉग गूगल जरूर देखेगा और आपके ब्लॉग पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक भेजेगा जिस की आपको जरूरत है।

Long-tail कीवर्ड का भी इस्तेमाल करें

मित्रों यह गूगल में रेंक पाने का एक बहुत ही सुलभ और अच्छा तरीका है इसकी सहायता से आप बहुत ही कम समय के अंतराल में आप इसकी सहायता से अपने ब्लॉग को बहुत सारे लोगों तक पहुंचा सकते हैं।

मित्रों long-tail keywords ऐसे वर्ड होते हैं या दूसरे शब्दों में कहें तो ऐसे कुछ शब्दों का समूह होता है जिनको सर्च इंजन पर बहुत ज्यादा बार सर्च किया जाता है लेकिन कुछ एकल शब्दों की तुलना में बहुत ही कम पर सर्च किया जाता है अगर इसे उदाहरण से समझा जाए तो “गूगल को हैक कैसे करें”, “चार्जर की पिन कैसे ठीक करें”, “लंबाई कैसे बढ़ाएं”, “यूट्यूब पर अकाउंट कैसे बनाएं”, “ट्विटर पर ट्रेंड कैसे चलाएं” यह इसके कुछ उदाहरण हो सकते हैं।

इस तरीके के चार या पांच शब्दों के वाक्यांश को long-tail की वर्ड कहा जाता है ऐसे कीवर्ड अक्सर किसी भी ब्लॉग को बहुत ही कम समय में बहुत सारे लोगों तक पहुंचा सकते हैं और वह ट्रैफिक बिल्कुल ऑर्गेनिक होता है।

एक ब्लॉगर या कंटेंट राइटर को हमेशा की वर्ड स्टाफिंग से बचना चाहिए क्योंकि जब आप किसी वर्ड को जबरदस्ती अपने आर्टिकल में भरते हैं तब इससे आपके आर्टिकल की रीडेबिलिटी भी बहुत ज्यादा प्रभावित होती है जिसकी वजह से यदि कोई आपका आर्टिकल पढ़ने की कोशिश भी करेगा तो उसे समझ में नहीं आएगा कि आपने कुछ स्पेसिफिक कीवर्ड को अपने आर्टिकल में क्यों लगा रखा है इसके कारण लोग आपका आर्टिकल पढ़ना बिल्कुल पसंद नहीं करेंगे।

एक रीडर को आपके पेज पर आकर बहुत बुरा अनुभव प्राप्त होगा और एक बार यदि किसी रीडर को बुरा अनुभव प्राप्त हो तो उसके बाद वह वेबसाइट पर वापस नहीं आता और इसी से एक ब्लॉगर को हमेशा बचना चाहिए।

इसलिए आपको कीवर्ड स्टाफिंग से हमेशा बचना है और आपको कभी भी जबरदस्ती कीवर्ड अपने आर्टिकल या ब्लॉग में नहीं भरना है।

अपने विशेष कंटेंट को ज्यादा लिंक करें

यदि आपने कुछ ऐसा कंटेंट लिखा है जो बहुत ही ज्यादा स्पेशल है और उसमें बहुत ज्यादा ज्ञानवर्धक बातें आपने लिखी है तो जो सबसे पहला काम होगा वह होगा कि आपको उस कंटेंट को जितना ज्यादा हो सके उतना ज्यादा लिंक करना है।

यदि आप ऐसा करेंगे तो तो आपके आर्टिकल पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक आने की संभावनाएं बढ़ जाएंगी।  इसका एक कारण यह है कि यदि आप अपनी एक स्पेशल कंटेंट को बहुत ज्यादा लिंक करते हैं तो गूगल इतने सारे लिंक में से किसी न किसी एक लिंक को जरूर बहुत सारे लोगों तक पहुंचाता है।

यदि उन लोगों को वह कंटेंट ज्ञानवर्धक और इंफॉर्मेशन लगता है तो वह उस लिंक को शेयर भी करते हैं और उस पर बहुत से ज्यादा क्लिक करते हैं इसे देखकर गूगल आपके इस लिंक को प्रमोट करता है और बहुत सारे लोगों को आप का यह कंटेंट की लिंक लोगों के सुझाव में लाता है और आपको यही चाहिए इसलिए जितना हो सके आपको आप के स्पेशल कंटेंट को ज्यादा से ज्यादा लिंक करना है।

ख़राब और Topics links को अपनी वेबसाइट से तुरंत हटाये

यदि आप एक ब्लॉगर हैं और आप अपने ब्लॉग की लिंक प्रोफाइल पर नजर नहीं रख रहे हैं तो आप एक बहुत बड़ी गलती कर गए हैं। आपकी साइट यदि पुरानी है या आप अपनी साइट पर बहुत ज्यादा कंटेंट डाल रहे हैं तो इस बात की संभावनाएं भी ज्यादा हो जाती है कि आपकी वेबसाइट या आपके ब्लॉग पर जो खराब लिंक है या टॉक्सिक लिंक है उनकी संख्या बहुत ज्यादा होगी और इसकी वजह से आपके डोमेन अथॉरिटी या रैंकिंग और ट्रैफिक जैसे बहुत ज्यादा लाभदायक चीजों पर इसका बहुत बुरा प्रभाव होगा।

इसके कारण आपकी कमाई भी घट सकती है इसके कारण आपके सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन पर पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए यदि आपके ब्लॉग में या आपके आर्टिकल में कोई खराब लिंक है या टॉक्सिक लिंक है तो आपको उसे तुरंत हटाना चाहिए।

यदि आप ऐसा करना चाहते हैं तो आप semrush या लिंक पेट्रोल या Ahref आदि वेबसाइट को काम में ले सकते हैं जिनकी सहायता से आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट या आर्टिकल में उपस्थित टॉक्सिक लिंक या खराब लेख को तुरंत से तुरंत हटा सकते हैं।

Backlinks पर भी जरूर ध्यान दें

यदि आप ब्लॉग लिखते हैं और या कंटेंट राइटिंग करते हैं तो आप को यह बात पता होगी कि बैक लिंक का एक ब्लॉग में क्या महत्व होता है।

blogging Tips in hindi

बैंक लिंक की सहायता से आप अपने ब्लॉग को कुछ ही कम समय में बहुत सारे लोगों तक पहुंचा सकते हैं। यदि आप को बैंक लिंक लगाना नहीं आता तो इसे आप यूट्यूब पर भी सीख सकते हैं।

उदाहरण के लिए हम समझते हैं कि माना कि आपका एक आर्टिकल है या आपका एक ब्लॉग है जिस पर बहुत अच्छी इंगेजमेंट आ रही है और उस पर महीने के कम से कम 30 से 40,000 पाठक हर महीने आ रहे हैं लेकिन वही आपके बाकी आर्टिकल पर 100 से 200 की इंगेजमेंट हर महीने आ रही है जो कि बहुत कम है। इसलिए आपने अपनी ही आर्टिकल में अपने ही उस आर्टिकल में जिस पर बहुत अच्छी इंगेजमेंट आ रही थी वहां पर आपने अपने कुछ आर्टिकल की लिंक को एक अच्छे टाइटल के साथ में डाल दिया तो इस प्रकार वह एक बैकलिंक बन जाती है।

जहां पर उस अच्छी इंगेजमेंट वाली आर्टिकल को पढ़ने वाला आपके उस बैंक लिंक वाले आर्टिकल को भी पढ़ सकता है।

इसी प्रकार बैंक लिंक काम करती है इसकी सहायता से बहुत लोगों ने बहुत कम समय में बहुत बड़े आयामों को छुआ है।

Heading को आकर्षक और Informative रखे

एक ब्लॉगर के लिए उसके ब्लॉग में आकर्षक और इनफॉर्मेटिक हेडिंग का बहुत ज्यादा महत्व है। ब्लॉगर को यह पता होता है कि यदि उसने एक बहुत आकर्षक और एक बहुत अच्छी हेडिंग लगाई है तो उस हेडिंग के नीचे का जो कंटेंट है उसे पढ़े जाने संभावना बढ़ जाती है।

इसीलिए आपको भी चाहिए कि जो आपका आर्टिकल पढ़ें या आपके ब्लॉग के लिंक पर क्लिक करें वह आपके ब्लॉग को जरूरत पढ़ें तो आपको भी अच्छी हेडिंग लिखना जरूरी है।

यदि आपको अच्छी हेडिंग लिखना नहीं आता तो इसे आप बहुत सारे फ्री प्लेटफार्म से सीख सकते हैं।

यदि आपने ब्लॉगिंग शुरू ही करी है तो फिर आप इंटरनल लिंक के बारे में जानते ही होंगे।

इंटरलिंक के जरिए आप अपने कंटेंट को बहुत ही अच्छी क्वालिटी का बना सकते हैं। जिसके कारण आपके कंटेंट या ब्लॉग पर बहुत ज्यादा विजिटर आने की संभावनाएं बढ़ जाती है।

आपके ब्लॉग पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक आने के चांस भी बढ़ जाते हैं यदि इंटरनल लिंक को सही तरीके से लगाया जाए तो यह बहुत फायदा पहुंचा सकता है लेकिन यदि इंटरनल लिंक को गलत तरीके से लगाया जाए तो आपका ऑर्गेनिक ट्रैफिक आना बंद भी हो सकता है।

गूगल आपके ब्लॉग को पूरी तरीके से प्रतिबंधित भी कर सकता है यदि आपको पता नहीं है कि इंटरनल लिंक किस तरीके से काम आते हैं तो इंटरनल लिंक के जरिए सर्च इंजन और यूजर दोनों को आपके ब्लॉग के बारे में वह संबंधित जानकारी प्राप्त होती है जिसकी सहायता से यूजर को आपका पूरा ब्लॉग पढ़ने की आवश्यकता नहीं होती वह आपके इंटरनल लिंक के जरिए ही समझ जाता है कि आपका ब्लॉग  किस टॉपिक से रिलेटेड है।

SSL Certificate जरूर काम इस्तेमाल करें

SSL सर्टिफिकेट एक ब्लॉगर के लिए बहुत ही आवश्यकहै यदि एक ब्लोगर या कंटेंट राइटर SSL सर्टिफिकेट को अपनी वेबसाइट के लिए काम में लेता है तो आपकी वेबसाइट बहुत ही ज्यादा सिक्योर हो जाएगी। इसके कारण यदि कोई आपकी वेबसाइट को अगर बंद करवाना चाहता है या उस पर अनियंत्रित ट्रैफिक भेजकर उसे ब्लाक करवाना चाहता है तो वह ऐसा करने में सक्षम नहीं हो पाएगा।

blogging tips in hindi

SSL सर्टिफिकेट के द्वारा आपकी वेबसाइट को किसी भी प्रकार के bot या रोबोट से सुरक्षा प्रदान मिलती है और किसी भी प्रकार की गैरकानूनी संरक्षण के कारण यदि आपकी वेबसाइट को कोई हानि पहुंचाना चाहता है तो गूगल उसे ऐसा करने के लिए प्रतिबंधित करेगा।

ऐसे बहुत सारे ऐसे होस्टिंग प्लान है जहां पर कंपनियां आपको मुफ्त में SSL सर्टिफिकेट प्रोवाइड करवाएगी। यदि आप अपनी वेबसाइट के लिए एक SSL सर्टिफिकेट काम में लेते हैं तो आप की वेबसाइट को ओपन करने के बाद में सर्च  बार के अंदर लेफ्ट साइड में आपको एक हरा ताला(लॉक) नजर आएगा  जिसका मतलब यह होता है कि आपकी वेबसाइट पूर्ण रूप से सुरक्षित है और उसे किसी भी प्रकार का कोई भी खतरा नहीं है इसे HTTPS के जरिए भी समझा जा सकता है। SSL का पूरा नाम Secure Socket Layer होता है।

DA को increase करने की कोशिश करिए

यदि आप अपनी वेबसाइट को लगभग हर समय चेक करते रहते हैं तो आपको यह पता होगा कि वेबसाइट के संदर्भ में DA किसे कहा जाता है DA का फुल फॉर्म डोमेन अथॉरिटी होता है। डोमेन अथॉरिटी जब बढ़ती है तब आपके ब्लॉग का यथार्थ भी बढ़ता है, इसका मतलब यह हुआ कि जब आपकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ती है तब आपका कंटेंट बहुत सारे लोगों तक पहुंचता है उसका SEO बहुत अच्छी तरीके से होता है।

यदि आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग की DA को बढ़ाने में सक्षम रहते हैं तो आप यह मान सकते हैं कि आपकी वेबसाइट बहुत अच्छा परफॉर्म करेगी।

बहुत ही कम समय में आपकी वेबसाइट वायरल भी हो सकती है यदि आप अपनी वेबसाइट को या अपनी वेबसाइट का DA बढ़ाना चाहते हैं तो आपको बहुत अच्छे लेवल का कंटेंट आपको पब्लिश करना होगा और आपको कोशिश करनी होगी कि आप एक परसेंट से दो परसेंट ऐसे कीवर्ड अपने मैं जरूर रखें जिनके कारण आपका SEO अच्छे से हो पाए।

आपको ध्यान रखना है कि आपको आपके ब्लॉग में इंटरनल लिंकिंग करते रहना है बहुत ज्यादा भी नहीं करना है लेकिन लगातार करते रहना है। बहुत अच्छे क्वालिटी के बैकलिंक आपको आपके ब्लॉग में ऐड करने होंगे और आपको semrush जैसे प्लेटफार्म का इस्तेमाल करके आपके वेबसाइट या ब्लॉग से बेड लिंक को तुरंत ही हटाना होगा आपको थोड़ा धैर्य रखना होगा और आपको इंतजार करना पड़ेगा कि आपका डोमिंग थोड़ा पुराना हो क्योंकि जितना डोमेन आपका पुराना होगा, आपकी डोमेन अथॉरिटी ज्यादा बढ़ेगी।

Colourful Fonts का इस्तेमाल करें

यदि आप अपने कंटेंट को अच्छा और हाई क्वालिटी का बनाना चाहते हैं तो आपको एक प्रयास यह भी करना होगा कि आप जब कंटेंट लिखे तो उसमें कुछ शब्दों और वाक्यों के लिए अलग-अलग रंगों का प्रयोग जरूर करें।

ध्यान रखें कि 3 से लगा रंगों का उपयोग आपको नहीं करना है उन्हीं तीन रंगों का उपयोग आपको इस तरीके से करना है जिस प्रकार आपका कंटेंट बहुत अच्छी तरीके से विजिबल हो और लोगों को उसे पढ़ने में भी मजा आए।

ऐसा नहीं होना चाहिए कि आप के चुने हुए रंगों के वजह पाठकों को आपका ब्लॉग पढने में दिक्कतों का सामना करना पडे।

आपका ब्लॉग आकर्षक होना चाहिए जिसकी सहायता से आपका जो लेख होगा वह दिखने में भी सुंदर लगेगा और आपका लेख उन विजिटर को पसंद भी आएगा जो किसी न किसी सहायता को ढूंढते हुए आपके वेबसाइट पर आए हैं।

ऐसा करने से वह आर्टिकल के शेयर होने की संभावना बढ़ जाती है जिसके कारण आपके ब्लॉग पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक आने की संभावनाएं भी दुगनी हो जाती है।

ध्यान रखें कि आप जो भी रंग के अक्षरों का इस्तेमाल करें वह रंग किसी भी प्रकार से ऐसे नहीं होने चाहिए जो आपके विजिटर का पढ़ने से ध्यान हटायें बल्कि ऐसे रंग होने चाहिए जो उसे पढ़ने में सहायता प्रदान करें।

अपने पुराने ब्लोग्स की अपडेट करते रहें

एक तरीका यह भी बहुत लाभदायक है जिसमें आपको आपके ही पुराने आर्टिकल को थोड़ा बहुत अपडेट करके उसे सोशल मीडिया पर फिर से शेयर करना चाहिए, क्योंकि यदि आप ऐसा करेंगे तो आपके पुराने आर्टिकल भी नए जैसे रहेंगे और गूगल या फिर सर्च इंजन की नजर में रहेंगे कि एक पुराने आर्टिकल पर धीरे-धीरे करके ही सही पर ट्रैफिक आ रहा है ऐसा लगातार होने से वापस वह आर्टिकल वायरल होने के बहुत नजदीक होता है।

यदि आप ऐसा करते रहेंगे और आपके पुराने आर्टिकल में कुछ ना कुछ एडिट करके उसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे कि फेसबुक टि्वटर इंस्टाग्राम पर शेयर करते रहेंगे तो इससे आपका आर्टिकल बहुत ही  जल्द बहुत सारे लोगों के पास में पहुंचेगा और जिसके कारण आपके आर्टिकल पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक आने की संभावना बहुत ज्यादा हो जाएंगी।

इसके बाद आप जल्द ही देखेंगे की बहुत बड़ी संख्या में लोग आपके ब्लॉग को पढ़ने के लिए आ रहे हैं  इसलिए हम आपको यह सुझाव जरूर देंगे कि आपको आपके पुराने आर्टिकल या फिर ब्लॉग को थोड़ा बहुत अपडेट करके सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर जैसे कि फेसबुक टि्वटर इंस्टाग्राम लिंक पर आप को उन्हें शेयर करना चाहिए। ताकि लोगों को आपका पुराना आर्टिकल भी ध्यान में रहे और वह आपके पुराने आर्टिकल पर भी धीरे-धीरे करके ही सही लेकिन ट्रैफिक आता रहे।

फ्री स्टॉक की इमेजेस का ही इस्तेमाल करें

यदि आप एक ब्लॉग वेबसाइट चलाते हैं तो आपको यह बताने की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए कि आपको ऐसे कोई भी कंटेंट या तस्वीरें या वीडियो को बिना परमिशन के काम में नहीं लेना है। यदि आप परमिशन नहीं लेना चाहते तो फ्री स्टॉक इमेजेस को आप काम में ले सकते हैं।

इनकी सहायता से आपको कंटेंट में किसी भी प्रकार का कॉपीराइट क्लेम नहीं आएगा। यदि आपके ब्लॉग वेबसाइट पर कॉपीराइट आता है तो यह आपके और आपके वेबसाइट के भविष्य के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक है इसके कारण आपकी वेबसाइट प्रतिबंधित भी हो सकती है तो आपका गूगल अकाउंट भी डिलीट कर जा सकता है और आपका मोबाइल नंबर भी ब्लैक लिस्ट किया जा सकता है।

इसके कारण आप अपने मोबाइल नंबर से फिर कभी भी कोई भी गूगल की ईमेल आईडी नहीं बना पाएंगे। इसी कारण आपको ऐसी तस्वीरें इस्तेमाल करना चाहिए जिसके साथ में कॉपीराइट का इशू ना हो। यदि आप ऐसे तस्वीरों का इस्तेमाल करेंगे तो यह आपके और आपके वेबसाइट के भविष्य के लिए बहुत अच्छा होगा और आपको किसी भी प्रकार से कॉपीराइट का कोई भी खतरा नहीं होगा जो कि एक बहुत ही सराहनीय बात है।

Patience के साथ ब्लॉगिंग करें

एक सबसे महत्वपूर्ण बात यह भी है कि यदि ब्लोगिंग करना आपको पसंद नहीं है तो आप को ब्लॉगिंग के को अपने करियर के रूप में स्वीकार नहीं करना चाहिए। क्योंकि ब्लॉगिंग एक पेशन है यदि आप ब्लॉगिंग को अपना पैशन नहीं मानते तो आप कभी भी ब्लॉगिंग के करियर में सफल नहीं हो पाएंगे।

यदि आप कोई भी ब्लॉग लिखते हैं तो लोग लिखते समय ही यह पता चल जाता है कि आपने ब्लॉग मजबूरी में लिखा है या वह ब्लॉग लिखने में आपको आनंद आता है कार्य वही करना चाहिए जिसमें आनंद आए और इसी के कारण यदि आपको ब्लॉग लिखने में आनंद आता है और आनंद की अनुभूति होती है तो ही आपको ब्लोगिंग के करियर को अपनाना चाहिए।

अन्यथा आप को थोड़ा समय निकालकर यह सोचना चाहिए कि आप किस फील्ड को अपने करियर के रूप में चुन सकते हैं।

Visitor के कमेंट का जवाब जरूर दें

एक बात आपको यह ध्यान में रखनी चाहिए कि जो विजिटर आपके ब्लॉग पर आएगा वह भी इंसान ही होगा इसलिए यदि उसके कोई समस्या आ रही है या फिर उसने कोई आपसे कमेन्ट में प्रश्न पूछा है तो आपको उसके कमेंट का जवाब जरूर देना चाहिए। चाहे वह कमेंट अच्छा हो या बुरा हो आपको उसे कमेंट का जवाब जरूर देना चाहिए। यदि वह जवाब देने लायक है तो ऐसे सवालों के जवाब देना चाहिए क्योंकि ऐसे सवाल आपके ब्लॉग की क्वालिटी को बहुत ज्यादा बढ़ाते हैं और एक क्वालिटी से भरा हुआ ब्लॉग जल्द ही आपको आपका कंटेंट वायरल करने में मदद करेगा।

SEO फ्रेंडली permalink use करिए

seo ( Blogging Tips in Hindi

आपको ऐसी लिंक जरूर काम में लेनी चाहिए जो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन फ्रेंडली हो क्योंकि यदि आप SEO फ्रेंडली permalink को काम में लेंगे तो आपके कंटेंट की क्वालिटी बहुत अच्छी होगी और ऐसी SEO फ्रेंडली permalink काम में लेने से गूगल को यह बात पता रहेगी कि जो आप काम में ले रहे हो उसे सर्च करने वाले लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है या कम है। इसी अनुसार वह आपको उसका परिणाम भी देगा।

यदि आपने एक अच्छी SEO friendly permalink structure अपने काम में लिया है तो यह आपके ब्लॉग के लिए बहुत ही लाभदायक होने वाला है।

FAQ

Q. क्या ब्लोगिंग से पैसे कमाए जा सकते है?

Ans. जी हाँ! ब्लोगिंग से बहुत से लोग अपनी रेगुलर income करते है और कुछ लोगों का एक मात्र income सोर्स ब्लॉगिंग है.

Q. क्या अच्छी ब्लोगिंग करने के लिए अंग्रेजी का आना जरूरी है?

Ans. ऐसा नहीं है. ब्लोगिंग के लिए बहुत अच्छी अंग्रेजी का आना जरूरी नहीं लेकिन बेसिक अंग्रेजी का आना अनिवार्य होता है. यह आपको वेबसाइट समझने में भी मदद करेगी.

Q. ब्लोगिंग के संबध में Sitemap क्या होता है?

Ans. Sitemap के जरिये आप अपने ब्राउज़र की सहायता से गूगल पर यह चेक कर सकते है कि आपका ब्लॉग कैसा परफॉर्म कर रहा है. और कही कोई दिक्कत तो नहीं आ रही. यदि कही कोई परेशानी आ रही होगी तो Sitemap के जरिये आप उसे आसानी से समझ पाएंगे.

Q. ब्लोगिंग के सन्दर्भ में CDN क्या होता है?

Ans. CDN का इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग को फ़ास्ट बना सकते है. CDN एक वर्चुअल डेटाबेस नेटवर्क होता है जहा पर यदि आप अपने ब्लॉग को स्टोर कर दे तो डायरेक्ट डेटाबेस से न open होकर, हर बार आपका ब्लॉग CDN से open होगा जो की आपके ब्लॉग का cache वर्जन होगा. और इससे आपके ब्लॉग को लोड होने में कम समय लगेगा.

blogging Tips in Hindi

Conclusion

आज के लेख में हमने यह जाना की ब्लोगिंग करते समय किन बातों का ख्याल रखा जाता है. आज के लेख में हमने आपको ब्लोगिंग से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करी है. और हर उदहारण के साथ हमने यह कोशिश करी की आपको हर बात समझ आये. यदि आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आई तो कृपया इस लेख को जरूर शेयर करें.

नमस्कार दोस्तों, मैं Sandeep Singh, Technical Sandy(टेक्निकल सैंडी) का Technical Author & Founder हूँ। Education की बात करूँ तो मैं एक बी.कॉम Graduate हूँ। मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है। मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे। :) #We Technical Sandy Team Support DIGITAL INDIA

Share on:

Leave a Comment